राज्य

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने बकरीद को लेकर जारी की गाइडलाइन, गोवंश और ऊंट की कुर्बानी पर प्रतिबंध।

लखनऊ: कोरोना संक्रमण को देखते हुए उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने ईद उल अजहा (बकरीद) को लेकर निर्देश दिए हैं। CM योगी ने बकरीद से जुड़े आयोजन में 50 से ज़्यादा लोगों के एकत्रित होने और सार्वजनिक स्थानों पर कुर्बानी पर रोक लगा दी है। गोवंश, ऊंट या अन्य प्रतिबंधित जानवर की कुर्बानी पर भी सीएम योगी ने पाबंदी लगा दी है।

21 जुलाई को मनाए जाने वाले मुसलमानों के दूसरे सबसे बड़े त्यौहार ईद उल अजहा को लेकर योगी सरकार द्वारा गाइडलाइन जारी करके त्योहार के अवसर पर 50 से अधिक लोगों को इकट्ठा होने पर रोक लगा दी है, साथ ही प्रदेश के हर जिले के अधिकारियों को यह हिदायत दी गई है कि कुर्बानी में गोवंश आदि ऊंट समेत प्रतिबंधित जानवरों की कुर्बानी ना दी जाए अन्यथा कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।

ADVT.

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को टीम-9 की बैठक में यह निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि कुर्बानी का कार्य सार्वजनिक स्थान पर न किया जाए। इसके लिए चिन्हित स्थलों व निजी परिसरों का ही उपयोग हो। स्वच्छता का विशेष ध्यान दिया जाए। कोरोना प्रोटोकॉल का पूरी तरह पालन सुनिश्चित कराया जाए।

गौरतलब है कि बकराईद, ईद उल अजहा या कुर्बानी के नाम से जाने जाने वाला यह मुसलमानों का दूसरा बड़ा त्यौहार है जिसमें मुस्लिम समाज के लोग ईदगाह में नमाज अदा करते हैं और उसके बाद अल्लाह की राह में हलाल जानवरों की कुर्बानी देते हैं, यह अल्लाह के पैगंबर हजरत इब्राहिम की सुन्नत है और इस त्यौहार का संदेश त्याग और कुर्बानी देकर भाईचारे को मजबूत बनाना है।

बता दें कि इससे पहले उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने कांवड़ यात्रा को अनुमति दे दी थी लेकिन सुप्रीम कोर्ट की फटकार के बाद सरकार ने कावड़ यात्रा को रद्द कर दिया है।