देश मनोरंजन

एक्ट्रेस स्वरा भास्कर ने साधा RSS पर निशाना, कहा “संघी लोग सबसे ‘नीच’ हैं” जानिए किया है पूरा मामला।

नई दिल्ली: एक्ट्रेस स्वरा भास्कर को अक्सर नरेंद्र मोदी सरकार और आरएसएस (RSS) पर हमला करते हुए देखा जाता है, अब एक्ट्रेस ने एक ट्वीट कर संघ पर निशाना साधा है। अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्वीट कर संघ (RSS) पर तंज कसते हुए उन्होंने लिखा कि संघी सबसे नीच लोग होते हैं।

अपनी बात को आगे बढ़ाते हुए, उन्होंने ट्वीट करके लिखा, “मैं अबतक जितने लोगों से मिली हूं उसमे संघ के लोग सबसे नीच हैं। फिर चाहे यह किसी फिल्म स्टार जोड़े की बात हो, उसके जन्म या फिर उसके बच्चे का नाम। एक अस्सी साल के मानवाधिकार कार्यकर्ता की न्यायिक हिरासत में मौत का मामला हो, ये संघी कभी भी यह बताने से नहीं चूकते हैं कि उनका दिल कितना खाली है।”

स्वरा भास्कर ने यह कड़ी प्रतिक्रिया सोशल मीडिया पर कुछ लोगों द्वारा मानवाधिकार कार्यकर्ता फादर स्टेन स्वामी की मौत का जश्न मनाते हुए देखे जाने के बाद दी है, जिन्हें न्यायिक हिरासत में रखा गया था। आपको बता दें कि स्वरा भास्कर ने फादर स्टेन स्वामी के निधन पर अपना कड़ा रिएक्शन दिया है। एक्ट्रेस ने इस घटना को मर्डर बताया है।

उन्होंने यह भी कहा है कि हमें शर्म आनी चाहिए। एक्ट्रेस ने लिखा है कि ‘आपकी आत्मा को शांति मिले, फादर स्टेन स्वामी, हमारा देश आपके लायक नहीं है। भारत के लिए बेहद शर्मनाक दिन।” स्वरा ने ट्वीट करते हुए इसे ‘कोल्ड ब्लडेड मर्डर’ करार दिया है।

बता दें कि आदिवासियों के अधिकार की लड़ाई लड़ने वाल कार्यकर्ता स्टेन स्वामी का सोमवार को न्यायिक हिरासत में निधन हो गया। उन्हें पिछले साल एनआईए ने गिरफ्तार किया था, 8 अक्टूबर को गिरफ्तार किए जाने के बाद उन्हें अगले दिन एनआईए कोर्ट में पेश किया गया जहां उन्हें न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया था। 28 मई को उनकी तबीयत बिगड़ गई थी, जिसके बाद उन्हें एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था जहां उनका सोमवार को निधन हो गया।

स्वरा भास्कर के इस ट्वीट पर कुछ लोग अपनी सहमति जताते हुए कमेंट कर रहे हैं, वहीं कुछ यूजर्स उन्हें खरी खोटी सुना रहे हैं। एक यूजर ने उनकी बात का समर्थन करते हुए लिखा कि संघी केवल दिल से ही नहीं बल्कि दिमाग से भी खाली है।@obaidkazi ट्विटर अकाउंट से कमेंट किया गया कि जब मैं संघी शब्द पढ़ता हूं तो मेरे दिमाग में उससे पहले घृणा शब्द आ जाता है। यह उसकी पर्यायवाची है।

@SavaiyaM टि्वटर हैंडल से कमेंट किया गया, ‘अब ये विवाद छोड़ दीजिए। अब तो सबका D N A एक है। अब कश्मीर ,बांग्लादेश या पाकिस्तान सब पुरानी बातें हो गई। अब तो जश्न मनाइये कि सबका D N A एक है। अब तो मुसलमान, दलित, महिला सब आरएसएस प्रमुख बन सकते हैं। एक यूजर ने उनसे असहमति जताते हुए लिखा कि मैम बंगाल के बारे में क्या सोचती है? उनके लिए आपका दिल कितना खाली है? पालघर लिंचिंग और बहुत सारे केस पर आपके क्या विचार हैं।